Sunday, 31 December 2017

ढल रहा है दिसम्बर बदल रहा है साल
बदल रही हैं ऋतुएं मगर न बदला मेरा हाल
।।।।
आज अपने मन मे सब विचार कर ले।।
क्या सीखा इस साल उसका जरा प्रचार कर ले
।।।।
आने वाले 365 दिन आज मेरे पास हैं
इसीलिए आने वाला साल खास है
।।।
पुरानी खुशियों पुराने दोस्तों को भुला न देना
पिछली गलतियों  को दुहराकर नए साल को अपने रुला न देना
।।।
कामयाबी की तरफ बढ़ेंगे हर दम निश्चय दृढ़ कर लो
न दुखे दिल किसी का तुम्हारी वजह से ऐसा प्रण कर लो
।।।।
ख्वाइशें रखों आसमाँ तक जाने की
कोशिश करो ख्वाइशों को पाने की
।।।।
पंख लगा के मेहनत के मंजिल तक पहुंचने की उड़ान भरो
परिंदे नए बन के नए साल को अपनी नई पहचान दो
।।।।
हंसी खुशी प्यार से भरा तुम्हारा हर नया त्योहार हो
न रहे जिंदगी में कोई भी कमी नया साल तुम्हारा ऐसा इस बार हो
।।।।
"नीलम रावत"
💐💐💐happy new year to all of you my friends 💐💐💐
ये साथ हमेसा यूँ ही बनाये रखना

Neelam Rawat. Powered by Blogger.

घाटियों की गूंज . 2017 Copyright. All rights reserved. Designed by Blogger Template | Free Blogger Templates