Search

होली आयी है होली आयी है

गली गली में रंगों की दमक है
सबके चेहरों पर खुशियों की चमक है
होली आयी है होली आयी है
ब्रजमण्डली भी झूमि के आयी है
जानकी सुत ने होली मनाई है
गोपियों ने भी मारी पिचकारी है
नन्द के घर मे गोपियां पहुंची है
कान्हा के संग में होली मनाती हैं
हंसते खेलते रंग उड़ाते हैं
गोकुल में खूब धूम मचाते हैं
झूमते गाते राधा भी आती है
गुलाल के संग प्रेम भी बांटती है
नन्द को छोरा आनंद से झूमो
होली आयी होली आयी
संग में खुशियों की सौगात लायी
रंग प्रेम के भाई चारे के
रंग जीत के रंग हार के
रंग तुम्हारे रंग हमारे
रंग कान्हा के रंग राधा के
रंग गोकुल के रंग बरसाने के
रंग सौंदर्य के रंग सगुन के
रंग रसीले लगे फागुन के
होली आयी होली आयी
सब में देखो मदहोशी छाई
अपना पराया कोई न देखा
जिसको चाहा रंग लगाया
किसी के रंग हम भी रंगे है
कोई हमारे रंग में रंग है
आज सभी रंगों में मस्त है
कोई भांग पीने में व्यस्त है
डेली डेली गुंजिया की खुशबू
कोई मदिरा पीकर के ध्वस्त है
हमारे घर मे अतिथि विराजे हैं
गाजे बाजे सब कुछ साजे हैं
चाय पानी पूछा नहीं कछु
सबसे पहले रंगों से नवाजे हैं
होली आयी है होली आयी है।।
नीलम रावत

Post a Comment

0 Comments

Close Menu